निःशुल्क बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 की पूरी जानकारी जानिए

Right to Education Act RTE 2009

नि:शुल्‍क बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009

निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा विधेयक 2009 (Right to Education Act 2009 – RTE) बच्‍चों के शिक्षा से संबंधित एक विधेयक है। जिसे भारतीय संसद द्वारा योजना 04 अगस्त 2009 को पारित किया गया है। परंतु यह 01 अप्रैल 2010 से सम्पूर्ण भारत (जम्मू-कश्मीर को छोड़कर) में प्रभावी रूप से लागू हुआ। इस विधेयक के पास होने से बच्चों को मुफ़्त और अनिवार्य शिक्षा का मौलिक अधिकार मिल गया है। संविधान के अनुच्छेद 21 में 6 से 14 बर्ष तक के बच्चों के लिये अनिवार्य एवं नि:शुल्क शिक्षा की व्यवस्था की गयी है तथा 86 वें संशोधन द्वारा 21 (क) में प्राथमिक शिक्षा को सब नागरिको का मूलाधिकार बना दिया गया है।

Right to Education Act RTE 2009

Main provisions of Right to Education Act RTE 2009

निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा विधेयक 2009 के मुख्य प्रावधान

  • 6 से 14 साल के बच्चों को मुफ़्त शिक्षा उपलब्ध कराई जाएगी।
  • बच्चों को मुफ़्त शिक्षा मुहैया कराना राज्य और केंद्र सरकार की ज़िम्मेदारी होगी।
  • विकलांग बच्चों के लिए मुफ़्त शिक्षा के लिए उम्र बढ़ाकर 18 साल रखी गई है।
  • निजी स्कूलों को 6 से 14 साल तक के 25 प्रतिशत गरीब बच्चे मुफ्त पढ़ाने होंगे। इन बच्चों से फीस वसूलने पर दस गुना जुर्माना होगा। शर्त नहीं मानने पर मान्यता रद्द हो सकती है। मान्यता निरस्त होने पर स्कूल चलाया तो एक लाख और इसके बाद रोजाना 10 हजार जुर्माना लगाया जायेगा।
  • इस विधेयक में मुफ़्त और अनिवार्य शिक्षा उपलब्ध कराने, शिक्षा मुहैया कराने का दायित्व राज्य सरकार पर होने, स्कूल पाठ्यक्रम देश के संविधान की दिशानिर्देशों के अनुरूप और सामाजिक ज़िम्मेदारी पर केंद्रित होने और एडमिशन प्रक्रिया में लालफ़ीताशाही कम करना शामिल है सहित दस अहम लक्ष्यों को पूरा करने की बात कही गई है।
  • प्रवेश के समय कई स्कूल केपिटेशन फ़ीस की मांग करते हैं और बच्चों और माता-पिता को इंटरव्यू की प्रक्रिया से गुज़रना पड़ता है। एडमिशन की इस प्रक्रिया को बदलने का वादा भी इस विधेयक में किया गया है। बच्चों की स्क्रीनिंग और अभिभावकों की परीक्षा लेने पर 25 हजार का जुर्माना एवं दोहराने पर 50 हजार रूपये जुर्माना का प्रावधान रखा गया है। साथ ही शिक्षक द्वारा ट्यूशन नहीं पढ़ाये जाने का भी उल्‍लेख है।

How to take admission under the Right to Education Act RTE 2009

निःशुल्क बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के अंतर्गत प्रवेश कैसे लें

  • निःशुल्क बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 (RTE 2009) के अंतर्गत प्रवेश के लिए राज्य स्तर पर शिक्षा विभाग द्वारा आवेदकों/पालकों से ऑनलाईन आवेदन मंगाया जाता है।
  • RTE 2009 अंतर्गत प्रवेश प्रक्रिया में सम्मिलित होने के लिए आवेदकों/पालकों को RTE Portal पर ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन करना होता है।
  • ऑनलाईन आवेदन भरने की प्रक्रिया जिला स्तर पर निर्धारित समय-सीमा के भीतर लोक सेवा केन्‍द्र, सीएससी एजेंट्स, इंटरनेट कैफै, या किसी भी नागरिक सहयोगी संस्‍था के अतिरिक्‍त विकासखंड कार्यालय, नोडल शाला कार्यालय से ऑनलाईन आवेदन जमा कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन आवेदन के पश्चात अभिभावक अपने आवेदन के स्थिति ऑनलाईन देख सकते हैं इसके अलावा एसएमएस के माध्‍यम से भी आवश्‍यक जानकारियां प्राप्‍त कर सकते हैं।
  • प्रवेश प्रक्रिया में विद्यार्थियों का चयन कम्‍प्‍यूटराईज्‍ड लॉटरी सिस्‍टम के द्वारा मई/जून के म‍हीने में किया जाता है।
  • विद्यार्थी का चयन हो जाने पर समस्त दस्तावेज की प्रति स्कूल प्रबंधक को प्रस्तुत कर प्रवेश की प्रकिया पूर्ण की जाती है।