Jobskind Current Affairs : जॉब्सकाइंड करंट अफेयर्स भाग 2

Jobskind Current Affairs : दोस्‍तों, आप सभी का स्‍वागत है छत्‍तीसगढ़ की सबसे अधिक पसंद की जाने वाली वेबसाइट Jobskind.com पर। अब आप सीजी व्‍यापमं, सीजी पीएससी एवं अन्‍य प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए जनरल नॉलेज, जनरल अवेयरनेस, करंट अफेयर्स की जानकारी यहां प्राप्‍त कर सकते हैं। प्रश्‍नों के उत्‍तर जानने के लिए + के चिन्‍ह पर क्लिक करें।

पॉलिटिक्स ऑफ़ जुगाड़: द कोएलिशन हैण्डबुक” पुस्तक के लेखक कौन हैं?
उत्तर – सबा नकवी
पत्रकार सबा नकवी द्वारा लिखी गयी पुस्तक “पॉलिटिक्स ऑफ़ जुगाड़ : द कोएलिशन हैण्डबुक” को हाल ही में जारी किया गया, इस पुस्तक में 2019 लोकसभा चुनाव के बाद देश में गठबंधन की सरकार की सम्भावना का विश्लेषण किया गया है।
महत्‍वपूर्ण बिंदु : इस पुस्तक में भारत में गठबंधन की सरकारों के बारे में बताया गया है और इसमें 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद देश में गठबंधन की सरकार के गठन की सम्भावना पर प्रकाश डाला गया है। इस पुस्तक में गठबंधन की स्थिरता पर प्रश्न किया गया है। इसमें विभिन्न राज्यों के सन्दर्भ में भी गठबंधन की सरकार का विश्लेषण किया गया है।
सबा नकवी : सबा नकवी एक प्रसिद्ध भारतीय पत्रकार हैं। उन्होंने लेखिका तथा राजनीतिक विश्लेषक के रूप में जाना जाता है। उनके द्वारा लिखी गयी अन्य पुस्तकें इस प्रकार हैं : गुड फेथ (2012), कैपिटल कांक्वेस्ट (2015) तथा शेड्स ऑफ़ सैफरन (2018) ।
हाल ही में बेल्ट एंड रोड रोड फोरम का आयोजन चीन के किस शहर में किया जायेगा?
उत्तर – बीजिंग
हाल ही में द्वितीय बेल्ट एंड रोड फोरम का आयोजन चीन की राजधानी बीजिंग में किया गया है। इस फोरम में चीन की महत्वकांक्षी बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) पहल की समीक्षा की गयी। इस फोरम में 126 देशों तथा 29 अंतर्राष्ट्रीय संगठनों ने हिस्सा लिया। गौरतलब है कि पहली बेल्ट एंड रोड फोरम में 60 देशों तथा अंतर्राष्ट्रीय संगठनों ने हिस्सा लिया था। भारत ने पहले फोरम की भाँती इस फोरम में भी हिस्सा नहीं लिया।
बेल्ट एंड रोड फोरम 2019 : चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस तीन दिवसीय इवेंट के राउंडटेबल, उच्च स्तरीय बैठक तथा थीमेटिक फोरम की अध्यक्षता की।
फोकस : इस फोरम में अधोसंरचना परियोजनाओं के अलावा वित्तीय तथा मानवीय सहायता परियोजनाओं पर भी चर्चा की गयी।
देश : इस बार कई नए देश चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव में शामिल हुए, इस बार इटली और लुक्सेम्बर्ग बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव में शामिल हुए हैं। चीन और इटली ने 2.5 अरब यूरो के सौदे पर MoU पर हस्ताक्षर किये हैं। यूरोपीय संघ के 13 देश पहले से बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव के सदस्य हैं।
बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI)

  • बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) को 21वीं सदी का रेशम मार्ग कहा जाता है, इसकी घोषणा 2013 में की गयी थी।
  • इसका उद्देश्य एशिया, यूरोप और अफ्रीका को सड़क तथा समुद्री मार्ग से जोड़ना है, इससे विश्व की लगभग आधी जनसँख्या प्रभावित होगी।
  • “बेल्ट” के तहत चीन, मध्य एशिया, रूस तथा यूरोप को सड़क मार्ग से आपस में जोड़ा जायेगा। यह चीन को मध्य एशिया तथा पश्चिम एशिया के द्वारा फारस की खाड़ी तथा भू-मध्य सागर से जोड़ेगी। इसके अलावा यह चीन को दक्षिण-पूर्व एशिया, दक्षिण एशिया तथा हिन्द महासागर से जोड़ेगी।
  • “रोड” के तहत चीन से यूरोप को दक्षिण चीन सागर तथा हिन्द महासागर के द्वारा व्यापार को बढ़ावा दिया जाएगा।

भारत को बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव से क्या समस्या है?
भारत बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव का विरोध करने वाला प्रथम देश है और भारत अभी तक इसके विरुद्ध है। दरअसल इसका मुख्य कारण चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर द्वारा भारत की क्षेत्रीय संप्रभुता का उल्लंघन है। चीन का यह गलियारा पाक-अधिकृत कश्मीर से होकर गुज़रता है, जो की भारत का हिस्सा है, जिस पर पाकिस्तान ने कब्ज़ा किया है।

न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर गार्डन में कुश्ती लड़ने वाले पहले भारतीय पहलवान कौन बनेंगे?
उत्तर – बजरंग पूनिया
भारत के सुप्रसिद्ध पहलवान बजरंग पूनिया को अमेरिका के न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर गार्डन में विशेष स्पर्धा के लिए अमेरिकी कुश्ती संस्था द्वारा आमंत्रित किया गया है। इस प्रतियोगिता का आयोजन 6 मई, 2019 को किया जायेगा। वे अमेरिका के दो बार के राष्ट्रीय चैंपियन यियानी डिअकोमहलिस से मुकाबला करेंगे। गौरतलब है कि हाल ही में बजरंग पूनिया 65 किलोग्राम फ्रीस्टाइल भारवर्ग में विश्व के नंबर 1 पहलवान बने हैं।
बजरंग पूनिया : बजरंग पूनिया एक सुप्रसिद्ध पहलवान हैं, उनका जन्म 26 फरवरी, 1994 को हरियाणा के झज्जर में हुआ था। वर्ष 2013 में उन्होंने एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता, तत्पश्चात इसी वर्ष उन्होंने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। वर्ष 2014 में स्कॉटलैंड के ग्लासगो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में उन्होंने रजत पदक जीता। 2014 में एशियाई खेलों में उन्होंने पुनः रजत पदक जीता। 2014 एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता में बजरंग पूनिया ने रजत पदक जीता। एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता 2017 में बजरंग पूनिया ने स्वर्ण पदक जीता। वर्ष 2018 में राष्ट्रमंडल खेलों में बजरंग पूनिया ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीता। इसके अतिरिक्त 2018 एशियाई खेलों में बजरंग पूनिया ने 65 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।
किस IIT ने भारती लिपि को पढ़ने के लिए ओसीआर सिस्टम का विकास किया?
उत्तर – IIT मद्रास
IIT मद्रास के अनुसंधानकर्ताओं ने भारती लिपि के लिए सरल ओसीआर सिस्टम विकसित किया, इस शोधकार्य का नेतृत्व प्रोफेसर वी. श्रीनिवास चक्रवर्ती द्वारा किया गया। इस प्रणाली के द्वारा भारती स्क्रिप्ट में लिखे गये दस्तावेजों को कंप्यूटर द्वारा पढ़ा जा सकता है।
भारती स्क्रिप्ट : भारती स्क्रिप्ट एक एकीकृत लिपि है, इसमें नौ भारतीय भाषाएँ शामिल हैं। इसमें देवनागरी, बंगाली, गुरुमुखी, गुजराती, ओड़िया, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम तथा तमिल शामिल हैं। इसमें उर्दू और अंग्रेजी को शामिल नहीं किया गया है क्योंकि इनका ध्वन्यात्मक गठन काफी भिन्न है।
यह आवश्यक क्यों है?
कई यूरोपीय भाषाएँ (अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मन, इटालियन इत्यादि) रोमन लिपि का उपयोग एक आम लिपि के रूप में करती है, इस उन सभी देशों में संचार में आसानी होती है, जिन देशों में इस आम लिपि का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार हमारे देश में विभिन्न भाषाएँ हैं, यदि हमारे देश में ही एक आम लिपि हो तो संचार बाधा काफी हद तक कम हो जायेगी।
ओसीआर (ऑप्टिकल करैक्टर रिकग्निशन) स्कीम)
यह सबसे पहले डॉक्यूमेंट को टेक्स्ट तथा नॉन-टेक्स्ट में विभाजित कर देता है। बाद में टेक्स्ट को पैराग्राफ, वाक्य, शब्द तथा वर्णों में विभाजित किया जाता है। प्रत्येक वर्ण को करैक्टर के रूप में ASCII अथवा Unicode में चिन्हित किया जाता है।
भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी किये जाने वाले 20 रुपये के नये नोट में कौन सा ऐतिहासिक स्थान चित्रित है?
उत्तर – एलोरा गुफा
भारतीय रिज़र्व बैंक ने शीघ्र ही महात्मा गाँधी सीरीज में 20 रुपये के नए नोट को जारी करने की घोषणा की है। इस नए नोट पर एलोरा की गुफा का चित्र है। इस नोट के मध्य में महात्मा गाँधी का चित्र है, इसमें सूक्ष्म शब्दों में “RBI”, “भारत”, “इंडिया” तथा “20” लिखा होगा। यह नोट हरे-येलो रंग का होगा। इस नोट पर भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास के हस्ताक्षर होंगे। इस नोट का आकार 63mm x 129 mm होता।
अन्य करंट अफेयर्स – 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *